Archive | May 2018

हनुमान चालीसा मासिक सत्संग: मई २०१८

मई २०१८ का मासिक हनुमान चालीसा सत्संग का आयोजन दिनांक २७ को वेदांत आश्रम में हुआ। पूर्ववत पहले भक्त मण्डली के द्वारा सुन्दर भजनो का आयोजन हुआ। बाद में पूज्य गुरूजी के आने के बाद हनुमान चालीसा का सामूहिक पाठ हुआ और तत्पश्यात पूज्य गुरूजी का प्रवचन प्रारम्भ हुआ। इस बार भी उन्होंने २५वीं और २६वीं चौपाईयों में सूचित साधनाओं पर प्रकाश डाला।

उन्होंने बताया की यह बात निश्चित रूप से सत्य है की जैसे २५वीं चौपाई में कहा गया है की हनुमानजी की कृपा से सब रोग नष्ट हो जाते हैं और पीड़ाएँ भी समाप्त हो जाती हैं, और २६वीं चौपाई में बताया गया है की हनुमानजी हम सबको संकट से छुड़ा देते हैं – लेकिन यहाँ एक बात दृष्टव्य है की ऐसी कृपा की प्राप्ति के लिए हमारा भी कुछ पुरुषार्थ आपेक्षित है। अगर कोई यह सोचे की केवल निवेदन करने से हनुमानजी यह सब कर देंगे, तो यह पूर्ण सत्य नहीं है। गोस्वामीजी ने स्पष्ट कहा है की २५वीं चौपाई का फल तो तभी प्राप्त होगा जब हम – जपत निरंतर हनुमत वीरा। हमें निरंतर हनुमानजी की महिमा का जप करना चाहिए। जप साधना की बहुत महिमा है। गीता में भी कहा गया है की – यज्ञानां जपयज्ञोस्मि। जप का प्रयोजन अपने इष्ट का सतत संज्ञान बताये रखना होता है। यह स्मरण परिस्थिति निरपेक्ष होना चाहिए। परिस्थिति अच्छी हो या बुरी ईश्वर का भान जो भी बनाये रखता है उसे कोई भी संकट कैसे आ सकता है। संकट तो तभी आता है जब कुछ अपने छोटे से कंधों पर बोझा आ जाता है। जब हमें लगता है की सब कुछ हम ही करते हैं। ऐसे लोग ही तनाव ग्रसित हो जाते हैं।

२६वीं चौपाई में गोस्वामीजी कहते हैं की यहाँ भी संकट से निवृत्ति नैमित्तिक है। उसी व्यक्ति का सब संकट दूर हो जाएगा जो एक विशेष साधना की सिद्धि करेगा। और वो है – मन क्रम वचन धयान जो लावै। संकट से निवृत्ति, हनुमानजी के सुन्दर ध्यान रुपी साधना का आशीर्वाद है। यह ध्यान भी बहुत समग्रता से होना चाहिए। वे कहते हैं की जो व्यक्ति मन, कर्म और वचन तीनों धरातल का प्रयोग करता हुआ भगवन का ध्यान करता है – उस ध्यान से ही एक विशेष आशीर्वाद प्राप्त होता है। केवल धयान ही नहीं बल्कि कोई भी काम जब समग्रता से किया जाये तब ही हमें सफलता प्रदान करता है।  हनुमानजी उस जीवन दर्शन के प्रतिक हैं जो अपने लिए नहीं बल्कि अपने भगवन राम के लिए ही जीते हैं।  ऐसे निःस्वार्थ व्यक्ति को अपनी तो कोई समस्या होती ही नहीं है।  अतः ऐसे भक्तों के निश्चित रूप से सब संकट दूर हो जाते हैं।

अंत में पूज्य गुरूजी २७वीं चौपाई में मात्र प्रवेश करते हुए भगवन श्री राम जो सबसे उत्कृष्ट हैं उनके भी कार्य हनुमानजी पूरे करते हैं इसीसे हम सबको हनुमानजी की महिमा का ज्ञान होता है।  इस चौपाई की विस्तृत चर्चा २४वीं  जून को होगी। कार्यक्रम का समापन आरती और प्रसाद वितरण से हुआ।

लिंक्स: 

फोटो एल्बम 

प्रवचन 

Raghu Iyer gives Photography Tips

On 26th May, Sh Raghu Iyer, a very dedicated and passionate Wildlife Photographer was invited to Vedanta Ashram to enlighten the Ashram Mahatmas & devotees about the intricacies and tips of Field Photography. After the darshan of Bhagwan Sri Gangeshwar Mahadev in the Ashram Mandir, we had our very enlightening session of more than 90 minutes.

Raghu brought a very helpful chart for everyone to get an idea of Aperture / Shutter & ISO adjustments. He brought his various award-winning pictures and explained them too.

His wife Jaishree and son Ashwin also came. After dinner for which they also brought a lovely dish, Jaishree Raghunandan sang two lovely bhajans in Carnatic music style, which literally had a cool meditative effect.

Photo Album Link 

अखिल हर्डिया जी द्वारा फोटोग्राफी के टिप्स

दिनांक  २३ मई २०१८ को वेदान्त  आश्रम में इंदौर शहर के जाने-माने फोटोग्राफर श्री अखिल हर्डिया जी को आश्रम के अंतेवासियों को फोटोग्राफी का मूलभूत एवं आवश्यक ज्ञान देने हेतु आमंत्रित किया गया। अखिलजी इस क्षेत्र में पिछले तीन दशकों से समर्पित हैं, और अभी वे स्वतंत्र रूप से कार्य करते रहते हैं। इससे पूर्व वे अनेको वर्षो से दैनिक भास्कर समूह से जुड़े रहे, और उन्हें सैकड़ों पुरस्कार से अलंकृत किया जाता रहा है। आज वे देवी अहिल्याबाई विस्वविद्यालय के इंस्टिट्यूट ऑफ़ मास कम्युनिकेशन के विजिटिंग फैकल्टी भी हैं।

उन्होंने निम्नलिखित बिंदुओं पर विशेष प्रकाश डाला:

– कैमरे और लेंस का परिचय

– अच्छी फ़ोटो खीचने के लिए किन बातों के ध्यान रखना चाहिए

– ज्यादा और कम लाइट में कैसे फ़ोटो खिंचे

– कम लाइट में बिना फ़्लैश

– फोकस करने के बावद, कई बार ऑटो-फोकस फोकस ही करता ही रहता है, और समय निकल जाता है

– उड़ते पक्षी आदि की फ़ोटो

– डेप्थ ऑफ़ फील्ड कम-ज्यादा करना

– चलती वस्तु की फ़ोटो

– एक्सपोज़र कम-ज्यादा करना

वे अपने साथ कुछ अपनी विशेष फोटो भी लाये थे, जिन्हे उन्होंने समझा के बतलाया। बाद में कुछ प्रश्न-उत्तर भी हुए। उनके साथ फोटोग्राफी के एक प्रेमी श्री नवीन चंद्र थापक जी भी आये थे। थापकजी स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया के एक सेवा निवृत्त मैनेजर हैं।

बाद में भोजन का आयोजन था।

 

Vedanta Sandesh – May 2018

The May 2018 edition of Vedanta Sandesh is the English monthly eMagazine of International Vedanta Mission, containing inspiring and enlightening articles of Vedanta & Hinduism, and news of the activities of Vedanta Mission & Ashram – has been published. You can check it out from the links below:

Links:  Vedanta Sandesh is available on all of the following sites, and can be either downloaded or read online.

  1. Issuu

  2. Scribd

  3. GDocs

  4. Box

Getting VS in your Folder directly: Now that we have Google Drive, our subscribers with Gmail can get the VS directly in their Google Drive Folder – the moment it is published. Interested people can let us know so that we can add their email id’s in Direct Share Facility.

Vedanta Sandesh is a free magazine, and you are welcome to share it with your friends & relatives. May the good values & vision spread to bless the lives of one & all.

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

This entry was posted on May 1, 2018, in Magazines.